छत्तीसगढ़ नक्सली हमले में 2 बीजेपी नेता गिरफ्तार, नक्सलियों की मदद करने के लिए हर दिन जाल था

0
1140

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में माओवादी समर्थक होने के आरोप में भाजपा के एक स्थानीय नेता और एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया कि आरोपियों की पहचान पुजारी और रमेश थेंडी (32) के रूप में हुई है जिन्हें शनिवार को गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों ने एक नक्सली को देने के लिए एक ट्रैक्टर खरीदा था।

उन्होंने कहा कि बारसूर गांव के मूल निवासी पुजारी भाजपा की दंतेवाड़ा जिला इकाई के उपाध्यक्ष हैं। उन्होंने बताया कि विश्वास सूचना मिली थी कि अबूझमाड़ क्षेत्र से कुछ नक्सलियों ने माओवादियों की इंद्रावती क्षेत्र समिति में सक्रिय मिलिशियांदर-इन-चीफ अजय आलमी को कुछ चीजें खरीदने के लिए पैसे दिए हैं। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की।

पल्लव ने कहा कि पुलिस ने क्षेत्र में पुजारी सहित कुछ लोगों को नजरबंद रखा। उन्होंने कहा, शनिवार दोपहर बाद पुलिस ने बारसूर-चित्रकोट मार्ग पर एक नए सिरे से ट्रैक्टर ट्रॉली को देखा और पड़ोसी नारायणपुर जिले में ओरछा क्षेत्र के निवासी उसेंडी को उस समय पकड़ा जब वह नक्सलियों को वाहन देने के लिए कथित तौर पर जा रहा था। ”

उन्होंने बताया कि इंटर के दौरान उसेंडी ने बताया कि माओवादी आलमी ने एक ट्रैक्टर खरीदने के लिए उसे चार लाख रुपये दिए थे और उसने कहा था कि पुजारी इस काम में उसकी मदद करेगा।

इसके बाद पुजारी को बारसूर से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि वह क्षेत्र में पहले भी माओवादियों को विभिन्न चीजों में अपनी संलिप्तता की बात स्वीकार की है। पल्लव ने बताया कि उनके खिलाफ छत्तीसगढ़ विशेष जन सुरक्षा अधिनियम, 2005 के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

उन्होंने बताया कि माओवादियों को लॉकडाउन के बाद से राशन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच भाजपा की जिला इकाई के अध्यक्ष चैतराम अटामी ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ राज्य नेताओं ने इस विवरण के बारे में संकेत किया है और वे पार्टी स्तर पर पुजारी के खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला करेंगे।

बस्तर के बीजापुर में इस साल ये सबसे बड़ा नक्सली हमला था। इस हमले के बाद नक्सल समस्या से निपटने की बहस फिर नए सिरे से शुरू हो गई है। इसी को लेकर सोशल मीडिया पर लगभग एक साल पुरानी खबर फिर से वायरल की जा रही है। पूरी खबर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here