कोरोना से निपटे नहीं आ गया जीका वायरस, अगली महामारी की बन सकता वजह

0
64

कोरोना महमारी की अभी दूसरी लहर खत्म भी नहीं हुई कि देश में जीका वायरस ने दस्तक दे दी है। केरल में जीका वायरस से जुड़े 13 मामले सामने आ चुके है। कहा जा रहा है कि जीका वायरस अगली महामारी की वजह बन सकता है। बता दें कि जीका वायरस मच्छरों के काटने से फैलता है।

जीका वायरस से संक्रमित होने पर बुखार आना, शरीर पर चकत्ते पड़ा और जोड़ों में दर्द होता है। यानि इसके लक्षण डेंगू की तरह ही है। केरल से पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजे गए 19 सेंपल में से 13 मामलों में जीका वायरस की पुष्टि हुई है।

जीका वायरस को लेकर ब्राजील के मानौस स्थित फेडरल यूनिवर्सिटी ऑफ अमेजोनास के बायोलॉजिस्ट मार्सेलो गोर्डो पहले ही बड़ी चिंता जता चुके है। उनका कहना है कि जीका वायरस अगली महामारियां की वजह बन सकता है। वहीं फियोक्रूज अमेजोनिया बायोबैंक की जीव विज्ञानी अलेसांड्रा नावा ने इसके लिए मानवों के जंगलों पर कब्जा करने की वजह करार दिया।

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि जीका के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए एक कार्य योजना तैयार की गई है। मंत्री ने जिला चिकित्सा अधिकारियों (डीएमओ) की एक बैठक में कहा कि गर्भवती महिलाओं को बुखार होने पर अपना परीक्षण करवाना चाहिए।

WHO भी दुनिया भर की दवा कंपनियों को निर्देश दे चुका है कि वे इस वायरस को निष्क्रिय करने के लिए इनएक्टीवेटेड वैक्सीन विकसित करें। 2016 से लेकर अब तक दुनिया भर की 18 दवा कंपनियां वैक्सीन विकसित करने में लगी हैं। लेकिन कंपनियों का कहना है कि वैक्सीन बनने में करीब 10 साल लग जाएँगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here