नहीं मिला मंत्री पद तो पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता सौमित्र खान ने दिया पद से इस्तीफा

0
72

पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनावों में मिली करारी हार से बीजेपी पहले ही परेशान है। उसके बाद बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं की पार्टी छोड़ टीएमसी में शामिल होने की लाइन लगी है। इसी बीच बीजेपी के लिए एक और बुरी खबर सामने आई है। जहां बीजेपी युवा शाखा के अध्यक्ष सौमित्र खान (Saumitra Khan) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

बताया जा रहा है कि मोदी केबिनेट में मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज बंगाल भाजयुमो (BJYM) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। हालांकि कुछ घंटों बाद ही उन्होने अपना इस्तीफा भी वापस ले लिया। उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि, मैं यह बताने के लिए अवसर ले रहा हूं कि बीएल संतोष, अमित शाह, और तेजस्वी सूर्या के निर्देश पर मैं सम्मान के तौर पर अपना इस्तीफा वापस ले रहा हूं।

बता दें कि सौमित्र वर्तमान में बिष्णुपुर से सांसद हैं। इससे पहले इस्तीफा देते हुए उन्होने कहा था कि मैं चुनाव में बीजेपी की हार की जिम्मेदारी लेता हूं। मुझे लगता है कि मैं अपने क्षेत्र के लोगों से साथ ठीक से काम नहीं कर पाया। उन्होंने कहा कि अब बीजेपी के साथ नहीं होने का सवाल ही नहीं।  चुनाव से पहले भी मुझे किनारे कर दिया गया था। जिस पर मैंने कहा था कि पार्टी का शीर्ष नेतृत्व गलती कर रहा है।

बीजेपी नेता सौमित्र खान के इस्तीफे पर तृणमूल कांग्रेस के राज्य महासचिव कुणाल घोष ने तंज़ कसा है। उन्होने ट्वीट किया, ‘बीजेपी से जलने जैसी बू आती है। दम घुटने का अहसास। युवा नेता से बाहुबली, नेता से डॉक्टर बाबू, भारी उदास मन। और असली बीजेपी? इसे संग्रहालय में एक अलग गैलरी में स्मृति चिन्ह के रूप में रखें। शपथ देखकर कई नहीं भटकते !!’

उल्लेखनीय है कि प्रधान मंत्रो नरेंद्र मोदी ने बुधवार शाम को अपनी केबिनेट का विस्तार किया है। जिसमे कई पुराने चेहरों को हटाकर नए चेहरों को ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। मंत्रिमंडल में ज्योतिरादित्य सिंधिया, नारायण राणे, सर्बानंद सोनोवाल, पशुपति कुमार पारस, मनसुख मंडाविया और भूपेंद्र यादव समेत कई अन्य नेताओं को जगह मिली तो वहीं डॉक्टर हर्षवर्धन, रमेश पोखरियाल निशंक, संतोष गंगवार, रविशंकर प्रसाद, बाबुल सुप्रियो, प्रकाश जावडेकर जैसों को जाना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here