दिलीप कुमार का 98 साल की उम्र में निधन, राजकीय सम्मान के साथ दफ़नाया जाएगा

0
330

बॉलिवुड के पहले सुपरस्टार और ‘ट्रेजिडी किंग’ दिलीप कुमार उर्फ युसुफ खान ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है। उन्होने 98 साल की उम्र में बुधवार की सुबह 7.30 बजे मुंबई के खार हिंदुजा अस्पताल में आखिरी सांस ली। उनके शव को सांताक्रूज़ मुंबई के जुहू क़ब्रिस्तान में शाम 5 बजे दफ़नाया जाएगा।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दिलीप कुमार के शव को राजकीय सम्मान के साथ सुपुद-ए-खाक के आदेश दिए हैं। दिलीप कुमार को अंतिम विदाई देने के लिए बॉलीवुड हस्तियां उनके घर पहुंचना शुरू हो गई है। शाहरुख खान भी दिलीप कुमार के घर पहुंच चुके है। बता दें कि शाहरुख खान दिलीप और सायरा बानो के काफी करीब रहे हैं। सायरा बानो उन्हे अपने बेटे की तरह मानती हैं।

शाहरुख के अलावा मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे, करण जौहर, धर्मेंद्र, अनुपम खेर, शबाना आजमी आदि दिलीप साहब के घर पहुँच चुके है। दिलीप कुमार के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दुख जताया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “दिलीप कुमार जी को एक सिनेमाई लीजेंड के रूप में याद किया जाएगा। वो अद्वितीय प्रतिभा के धनी थे, जिससे पीढ़ी दर पीढ़ी दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है। उनके परिवार, दोस्तों और असंख्य प्रशंसकों के प्रति संवेदनाएं हैं। RIP.”

वहीं कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दुख जताया। उन्होने लिखा, दिलीप कुमार जी के परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। भारतीय सिनेमा में उनके असाधारण योगदान को आने वाली पीढ़ियों के लिए याद किया जाएगा।

इसके अलावा पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने भी शोक संदेश ट्वीट किया। दिलीप कुमार (Dilip Kumar) महान अभिनेता थे। उनके निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। कैंसर अस्पताल के लिए शुरू किए गए प्रोजेक्ट के लिए फंड जमा करने के क्रम में अभिनेता ने अपना कीमती वक्त निकाला था जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता।’

वहीं पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रपति डॉक्‍टर आरिफ अल्‍वी ने भी अभिनेता दिलीप कुमार के निधन पर शोक व्‍यक्ति किया है। अल्‍वी ने ट्वीट करके कहा कि दिलीप कुमार के निधन की खबर सुनकर बहुत दुखी हूं। वह एक शानदार कलाकार, विनम्र इंसान और शानदार व्‍यक्तित्‍व के धनी थे। बता दें कि दिलीप कुमार को पाकिस्तान के सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान निशान-ए-इम्तियाज से सम्‍मानित किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here