मंदिर में मुस्लिम शख्स ने लगवाया था वाटर कूलर, बजरंग दल ने नाम देख तोड़ दी शिला पट्टिका

0
224

उत्तर प्रदेश में भगवा संगठनों को सांप्रदायिक सोहार्द किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं है। वे हर उस चीज को खत्म कर देना चाहते है जो हिन्दू-मुस्लिम एकता में मददगार हो। ताजा मामला अलीगढ़ से जुड़ा है। जहां बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने एक मंदिर की शिला पट्टिका को इसलिए तोड़ दिया कि उस पर मुस्लिम शख्स का नाम लिखा था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, समाजवादी पार्टी (सपा) के सलमान शाहिद ने दो दिन पहले अलीगढ़ के लोढ़ा इलाके के खेरेश्वर महादेव मंदिर में वाटर कूलर दान में दिया था। इसका उद्घाटन मंदिर के पुजारी और कई अन्य संतों की उपस्थिति में किया गया था। इस अवसर पर ली गई तस्वीरों में पुजारी और अन्य संतों को शाहिद को आशीर्वाद देते देखा जा सकता है।

इस मामले में बुधवार को मंदिर समिति की और से पुलिस को दर्ज कराई गई एक शिकायत में कहा गया कि कुछ “असामाजिक तत्वों” ने मंदिर में प्रवेश किया और पत्थर को नष्ट कर दिया। कमेटी के अध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने मामले की जांच कराने की मांग की है।

वहीं संगमरमर की आधारशिला को हथौड़े से तोड़ने वाले भगवा संगठन के कार्यकर्ता करण चौधरी का कहना है कि “हम मंदिर परिसर के अंदर दूसरे समुदाय के किसी व्यक्ति का नाम बर्दाश्त नहीं कर सकते।” दूसरी और घटना को लेकर शाहिद ने कहा कि वह इस घटना से स्तब्ध हैं।

उन्होंने कहा कि “मैंने घोषणा की थी कि मैं अलीगढ़ के मंदिरों, मस्जिदों और स्वास्थ्य केंद्रों में 100 वाटर कूलर लगाऊंगा। लेकिन कुछ लोग इसे सकारात्मक रूप से नहीं ले सकते हैं और हर चीज को सांप्रदायिक मोड़ देने पर तुले हैं,  लोगों को एकजुट करने के बजाय, ऐसी ताकतें बांटने में लगी हैं।

शाहीद ने कहा, “दूसरों की तरह, हमारी भी मंदिरों में आस्था है। गर्मी के दिनों में पीने के ठंडे पानी की कमी के कारण, हमने मंदिर समिति और मुख्य पुजारी के साथ चर्चा करने के बाद वाटर कूलर स्थापित किया।“ शाहिद ने कहा, इसका उद्घाटन एक प्रमुख पुजारी स्वामी पूर्ण नंद पुरी ने किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here