शर्मनाक: मोदी राज में पेरिस में होने जा रही भारत की संपत्ति जब्त

0
235

दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत को फ्रांस में बेहद ही शर्मनाक स्थिति का सामना करना पड़ा है। एक फ्रांसीसी न्यायाधिकरण ने ब्रिटेन की कंपनी केयर्न एनर्जी ने लंबे समय से चल रहे एक टैक्स विवाद में  भारत की विदेशी संपत्तियों को जब्त करने का आदेश दिया है।

इस अदालती आदेश में भारत सरकार की करीब 20 संपत्तियों को फ्रीज करने का आदेश दिया गया है। 1.2 अरब डॉलर से जुड़ा यह विवाद भारत की अंतराष्ट्रीय छवि को नुकसान पहुँचने वाला है। कंपनी ने कहा कि ” इन संपत्तियों का मालिकाना हक हासिल कर लिया गया है, अगर इन संपत्तियों को बेचा जाता है तो उससे होने वाली कमाई केयर्न को ही मिलेगी।”

बता दें कि भारत सरकार के साथ स्कॉटलैंड के एडिनबरा स्थित तेल और गैस फ़र्म केयर्न एनर्जी का टैक्स अदायगी को लेकर विवाद चल रहा है। इस मामले में अब भारत सरकार का कहना है कि उसे इस मामले पर किसी भी फ्रांसीसी अदालत से कोई भी सन्देश नहीं मिला, जब मिलेगा तब “उचित कानूनी कदम” उठाया जाएगा।

केयर्न एनर्जी ने एअर इंडिया के हवाई जहाज, शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया से जुड़े बंदरगाह, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की प्रॉपर्टी, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के ऑयल एंड गैस कार्गो जैसे कीमती संपत्तियों को जब्त करेगा। हर्जाने को तौर पर वह इन संपत्तियो की पहचान पहले ही कर चुका है।

वहीं भारत के वित्त मंत्रालय ने कहा, “सरकार तथ्यों का पता लगाने की कोशिश कर रही है और जब भी ऐसा कोई आदेश प्राप्त होगा भारत के हितों की रक्षा के लिए अपने वकीलों के परामर्श करके उचित क़ानूनी उपाय किए जाएंगे।” मंत्रालय के अनुसार, द हेग अदालत के आदेश के खिलाफ भारत ने पहले ही अपील दायर की हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here