‘संदिग्ध मुठभेड़ों’ में महबूबा मुफ़्ती ने मांगी सरकारी बलों से जवाबदेही

0
240

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को घाटी में होने वाले एनकाउंटर को लेकर कहा कि इन पर सरकारी बलों से जवाबदेही तय की जानी चाहिए।

महबूबा ने अपने ट्विटर पर एक ट्वीट पोस्ट कर कहा कि “जम्मू-कश्मीर में रोजाना मुठभेड़ होती है। लेकिन जब जायज सवाल उठाए जाते हैं तो सुरक्षा बलों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। कुलगाम मुठभेड़ में मारे गए 17 वर्षीय नाबालिग के माता-पिता का दावा है कि वह एक निर्दोष नागरिक था। इन आरोपों पर भारत सरकार को सफाई देनी चाहिए।”

पूर्व सीएम 17 वर्षीय जाकिर बशीर के परिवार द्वारा किए गए दावों पर प्रतिक्रिया दे रही थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि बलों ने किशोर को उसके घर से बाहर खींच कर उसकी पिटाई की और उसका गला काटने से पहले दो बार गोली मार दी।

गुरुवार को पुलिस ने कुलगाम जिले के चिम्मर इलाके में हुई मुठभेड़ में जाकिर समेत लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराने का दावा किया था।

जिस पर पुलिस प्रवक्ता ने कहा, “प्रासंगिक रूप से, जाकिर बशीर हाल ही में संगठन में शामिल हुए था। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार, मारे गए सभी आतंकवादी विभिन्न उग्रवाद अपराधों में शामिल एक समूह का हिस्सा थे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here