बीजेपी नेता का विवादित बयान – ‘मुसलमानों को उठाकर भारत से बाहर फेंक देना चाहिए’

0
452

बीजेपी प्रवक्ता और करणी सेना प्रमुख सूरज पाल अमू ने एक बार फिर भारत में मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ भाषण दिया है। रविवार को बीजेपी नेता ने गुरुग्राम में हुई महापंचायत में ये भड़काऊ बयान दिया है।

कथित लव जिहाद के मुद्दे पर पटोदी में रखी गई इस महापंचायत को संबोधित करते हुए अमू ने कहा कि ‘अगर वे दाढ़ी काटना जानते हैं तो हम उनका गला काटना जानते हैं।’ अमू ने आगे कहा: “अगर भारत हमारी माँ है, तो हम पाकिस्तान के पिता हैं, और हम उन्हें यहाँ किराए पर घर नहीं देंगे। उन्हें इस देश से निकालो, यह प्रस्ताव पास करो।

अमू ने बोहरा कलां के उन ग्रामीणों की प्रशंसा भी की जिन्होंने अपने गांव में मस्जिद नहीं बनने दी। और भीड़ से कहा, ‘इस तरह की इमारतों की नींव को उखाड़ फेंको और उन्हें फेंक दो’। अमू ने पटौदी के निवासियों से अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को क्षेत्र में बसने की अनुमति नहीं देने का भी आग्रह किया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी नेता ने कहा, “1947 के दौरान, देश का विभाजन हुआ, हमने 10 लाख लोगों के शव देखे। आज तक उन शवों का कोई मिलान नहीं हुआ है। और हम उन्हें घर और दुकान दे रहे हैं। पटौदी में पता चला है कि उनके पार्क बन रहे हैं। पार्क के पत्थर को उखाड़ फेंको। कौन सा नौजवान पत्थर को उखाड़ने को तैयार है?”

हालांकि, हरियाणा के एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने सफाई पेश करते हुए कहा कि “ये उनकी (अमू की) निजी टिप्पणियां थीं। पार्टी का इससे कोई लेना-देना नहीं है।” वहीं महापंचायत के आयोजक सुधीर मुदगिल ने भी सूरज पाल अमू का बचाव किया। उन्होने कहा कि अमू बैठक में अतिथि थे और उन्होंने जो कुछ भी कहा वह उनका निजी बयान था और उनके द्वारा सुझाया गया कोई भी प्रस्ताव महापंचायत में पारित नहीं किया गया था।

इससे पहले महापंचायत में, पिछले साल जामिया मिलिया इस्लामिया सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाने वाले 17 वर्षीय रामभक्त गोपाल ने भी मुस्लिम महिलाओं के अपहरण के लिए युवाओं को उकसाया। वायरल VIDEO में उसे यह कहते हुए सुना जा सकता है कि जब मुसलमानों पर हमला किया जाएगा, तो वे ‘राम राम’ के नारे लगाएंगे।

मामले में डीसीपी मानेसर वरुण सिंह ने कहा है कि पुलिस को अभी तक न तो ऐसा कोई वीडियो मिला है और न ही कोई आधिकारिक शिकायत मिली है। उन्होंने कहा कि अगर शिकायत मिलती है तो पुलिस वीडियो का विश्लेषण करेगी और कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here