तालिबान के हमले के डर से भारत ने बुलाए अपने राजनयिक, भेजी ITBP टीम

0
255

अमेरिकी सैनिकों के जाने के बाद अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार को रूस में तालिबान ने दावा किया कि वह देश के 85% इलाके को अपने नियंत्रण में ले चुका है। ऐसे में अब भारत ने कंधार में अपने वाणिज्य दूतावास को न केवल बंद कर दिया। बल्कि अपने 50 राजनयिकों और सुरक्षा कर्मियों को वापस बुलाने का फैसला किया है।

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय वायुसेना की विशेष फ्लाइट से राजनयिकों और सुरक्षा कर्मियों को वापस बुलाया लिया गया। भारतीय वायुसेना के विशेष विमान को शनिवार को भेजा गया था। दरअसल भारत को डर है कि तालिबान कंधार पर हमला कर सकता है। ऐसे में वहाँ सुरक्षाबलों के साथ भीषण जंग छिड़ सकती है।

हालांकि इस मामले में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची का कहना है कि, “भारत, अफ़ग़ानिस्तान में पैदा हुई सुरक्षा स्थिति पर क़रीब से नज़र बनाए हुए है। हमारे कर्मियों की सुरक्षा हमारे लिए सर्वोपरि है। कंधार में भारत के वाणिज्य दूतावास को बंद नहीं किया गया है। हालांकि, कंधार शहर के पास छिड़ी लड़ाई के कारण भारत के कर्मियों को कुछ समय के लिए वापस बुला लिया गया है।”

फिलहाल काबुल में भारतीय दूतावास और बाल्ख प्रांत में मजार-ए-शरीफ पर कॉन्सुलेट खुले हुए हैं। अधिकारियों का कहना है कि हालात सुधरने पर इन अधिकारियों को वापस भेज दिया जाएगा। कुछ लोगों को काबुल के दूतावास पर भी भेजा जा सकता है।

वहीं अफगानिस्तान में बिगड़ती स्थिति को लेकर भारत में बढ़ती चिंताओं के बीच, अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुंदजे ने मंगलवार को विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला को अफगानिस्तान में स्थिति से अवगत कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here