मुस्लिम देशों का संगठन ओआईसी कश्मीर में भेजना चाहता है टीम, भारत ने दी चेतावनी

0
67

57 मुस्लिम देशों का संगठन इस्‍लामिक सहयोग संगठन (OIC) ने इस सप्ताह एक बयान जारी कर कहा कि भारतीय राजदूत औसफ सईद ने 5 जुलाई को जेद्दा में ओआईसी के महासचिव यूसुफ अल-ओथइमीन के साथ ‘शिष्‍टाचार मुलाकात’ की। इस दौरान उन्होने ओआईसी की और से कश्मीर में टीम भेजने की बात कहीं।

ओआईसी ने इस सबंध में बयान जारी कर कहा कि संगठन के महासचिव डॉ. युसेफ अल-ओथैमीन और भारतीय राजदूत डॉ. औसाफ सईद की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। जिनमे कश्मीर और भारतीय मुस्लिमों से जुड़ा मुद्दा प्रमुख रहा। इस दौरान उन्होने भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता और कश्मीर में ओआईसी टीम भेजने का भी प्रस्ताव दिया। उन्होने कहा कि यदि दोनों पक्ष सहमत हो तो वह मदद करने को तैयार है।

हालांकि ओआईसी के इस बयान पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस मुद्दे पर ओआईसी के प्रमुख यूसेफ अल ओथैमीन से मुलाकात की और इस दौरान हमारे राजदूत ने भारत के बारे में कुछ गलतफहमियों को दूर करने की आवश्यकता से उन्हें अवगत कराया, जो कि ओआईसी में कुछ देशों के निहित स्वार्थों के कारण फैली है।

इस दौरान कहा गया कि आईओसी को भी ऐसे स्वार्थी तत्वों से सतर्क रहना चाहिए कि उनके मंच का इस्तेमाल भारत के आतंरिक मामलों में टिप्पणी करने और भारत विरोध प्रचार के लिए न किया जाए।  एकतरफा प्रस्तावों और पूर्वाग्रहों से भरी धारणा को लेकर इस्लामिक देशों को सतर्क रहना चाहिए।’

बता दे कि ओआईसी कि स्थापना 25 सितंबर 1969 को हुई थी। पाकिस्तान संगठन का संस्थापक सदस्य रहा है। पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे पर हमेशा से ही ओआईसी का इस्तेमाल करता आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here