मुस्लिम युवकों पर धर्मांतरण का झूठा आरोप लगाने वाली सिख महिला बोली – ऐसा हिंदू संगठनों के दबाव में किया

0
275

मुस्लिम युवकों के खिलाफ पुलिस से जबरन धर्मांतरण की शिकायत करने वाली एक 24 वर्षीय सिख महिला ने अब उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में मजिस्ट्रेट के समक्ष अपना बयान दर्ज करता हुए आरोपों को वापस ले लिया। महिला का कहना है कि उसने ऐसा हिंदू संगठनों के दबाव में किया था।

इस मामले में पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) ने कहा, “मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान में, महिला ने दोनों भाइयों के खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों से इनकार किया। उसने [एक] आरोपी से शादी करने से भी इनकार किया, और दावा किया कि उसने कुछ हिंदू संगठनों के दबाव में प्राथमिकी दर्ज कराई है।” हालांकि इस दौरान महिला ने किसी भी संगठन का नाम नहीं लिया।

इससे पहले 29 जून को पुलिस में दर्ज कराई शिकायत में महिला ने कहा था कि उसके पड़ोस में रहने वाले एक शख्स ने उसे धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया और फिर उससे शादी की। इसके लिए उसने उसके झूठे दस्तावेज भी तैयार कराये। ताकि उस मुस्लिम महिला के तौर पर पेश किया जा सके।

1

महिला ने जिस शख्स से उसकी शादी होने का दावा किया है। वह फिलहाल जेल में है, जबकि उसका भाई फरार है। पुलिस कथित तौर पर आरोपी को जेल से रिहा करने का अनुरोध करने के लिए अदालत जाने की योजना बना रही है।

सहायक पुलिस अधीक्षक अर्पित विजयवर्गीय के अनुसार, महिला अपनी शिकायत के साथ निकाहनामा सहित कुछ दस्तावेज जमा करा चुकी है। उन्होंने कहा, ‘शिकायत पत्र के साथ महिला द्वारा पेश किए गए निकाहनामा का सत्यापन कराया जाएगा। जिसके बाद अब आगे की कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here