‘यूपी पुलिस का दलितों पर जुल्म, मामूली सी बात पर चढ़ा दिया मकानों पर बुलडोजर’

0
386

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के रौनापार थाना क्षेत्र के पलिया गांव में करीब एक हफ्ते पहले यूपी पुलिस के जवानों ने एक मामूली सी बात पर दलित परिवारों के मकानों पर बुलडोजर चढ़ाकर उन्हे जमींदौज कर दिया। इस घटना के बाद अब यूपी की सियासत गरमा गई है।

कांग्रेस दलितों के पुलिस उत्पीड़न के मुद्दे के साथ अब घटना स्थल पर ही धरने पर बैठ गई। वहीं कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा सोमवार को ट्वीट किया, ‘आजमगढ़, रौनापार के पलिया गांव में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दलित परिवारों पर हमला करने की खबर आ रही है। वहां कई मकानों को तोड़ा गया, सैकड़ों पर मुकदमा दर्ज किया गया। यह सरकारी अमले की दलित विरोधी मानसिकता का परिचायक है। दोषियों पर तत्काल कार्रवाई हो और पीड़ितों को मुआवजा दिया जाए।’

दूसरी और बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी अपने ट्विट में इस मुद्दे को उठाया। उन्होने कहाकि, आजमगढ़ पुलिस द्वारा पलिया गांव के पीड़ित दलितों को न्याय देने के बजाय उनपर ही अत्याचारियों के दबाव में आकर खुद भी जुल्म-ज्यादती करना व उन्हें आर्थिक नुकसान पहुंचाना अति-शर्मनाक। सरकार इस घटना का शीघ्र संज्ञान लेकर दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई व पीड़ितों की आर्थिक भरपाई करे।

अपने दूसरे ट्विट में मायावती ने कहाकि, साथ ही, अत्याचारियों व पुलिस द्वारा भी दलितों के उत्पीड़न की इस ताजा घटना की गंभीरता को देखते हुए बीएसपी का एक प्रतिनिधिमण्डल श्री गया चरण दिनकर, पूर्व एमएलए के नेतृत्व में पीड़ितों से मिलने शीघ्र ही गांव का दौरा करेगा।

बता दें कि ये घटना उस वक्त हुई जब पलिया गांव के प्रधान को एक पुलिस इंस्पेक्टर ने चांटा मार दिया, प्रधान दलित समुदाय का बताया जा रहा है। जिसके विरोध में कुछ लोगों ने पुलिसकर्मियों से मारपीट की। आरोप है कि  रात में दबिश देने आई पुलिस ने जेसीबी से मकानों को गिरा दिया और कीमती सामान लूट ले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here